VIDEO: लकड़ी का बरूदा मिलाकर बना रहे थे मसाले, 1378.8 किलोग्राम सीज

0
112
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314



  • मोहल्ला चैनापुरी में खाद्य सुरक्षा एवं अौषधि प्रशासन विभाग ने की कार्रवाई
  • पीली व लाल मिर्च, हल्दी, धनिया, बेल चूर्ण और अपमिश्रक बुरादा के छह नमूने लिए

हापुड़ : देहात थाना क्षेत्र के मोहल्ला चैनापुरी में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग और पुलिस टीम ने बड़ी छापामार कार्रवाई की है। जहां एक घर में बिना लाइसेंस चक्की लगाकर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक मसाले बनाए जा रहे थे। अधिकारियों ने प्रथम दृश्यता जांच में लकड़ी के बरूदे के इस्तेमाल की बात कही है। टीम ने मौके पर ही पीली व लाल मिर्च, हल्दी, धनिया, बेल चूर्ण और अपमिश्रक बुरादा के छह नमूने संग्रहित करते हुए जांच के लिए राजकीय लैब भेज दिए हैं। साथ ही 1378.8 किलोग्राम मसाले और अपमिश्रक बुरादा को सीज किया गया है।
सहायक आयुक्त (खाद्य)- द्वितीय महेंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है। मौके पर लकड़ी का बरुदा मसालों में पिसकर मिलाया जा रहा था। वजन बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल हो रहा था। यहां तक कि खराब साबुत लाल मिर्च से पीसी हुई लाल मिर्च भी तैयार की जा रही थी। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि अकरम के मसाला निर्माण इकाई पर छापामार कार्रवाई के दौरान बड़े पैमाने पर अनियमितता मिली हैं। मौके पर स्वास्थ्य के लिए हानिकाकर कई प्रकार के मसाले तैयार मिले हैं। टीम ने पीली मिर्च पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, बेल चूर्ण, अपमिश्रक बुरादा का एक-एक नमूना संग्रहित किया है।

इस कीमत के मसाले किए सीज

टीम ने 1378.8 किलोग्राम मसाले और अपमिश्रक बुरादा को सीज किया है। जिसमें आठ किलोग्राम धनिया पाउडर लगभग 1200 रुपये, 30 किलोग्राम लाल मिर्च पाउडर लगभग 7500 रुपये, 30 किलोग्राम हल्दी पाउडर लगभग 4200 रुपये, 525 किलोग्राम पीली मिर्च पाउडर लगभग 105000 रुपये, 85.800 किलोग्राम बेल चूर्ण लगभग 4290 रुपये, 700 किलोग्राम अपमिश्रक बुरादा लगभग 5600 रुपये की कीमत के मसालों को सीज किया है। लगभग 127790 रुपये की कीमत के मसाले सीज किए गए हैं।

यह कहते हैं चिकित्सक
मसाले आमतौर पर इम्युनिटी बढ़ाने का काम करते हैं, लेकिन नकली मसाले स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान पहुंचाते हैं। इससे पेट रोग और अन्य बीमारियां हो सकती हैं। – डाक्टर पराग शर्मा, चिकित्सक