बृजघाट पर पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली कौन रोकेगा

0
773
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314



बृजघाट पर पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली कौन रोकेगा

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com): पौराणित तीर्थस्थल बृजघाट पर गंगा स्नान हेतु ज्येष्ठ दशहरा उत्सव पर पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के लिए पुलिस प्रशासन ने कड़े सुरक्षा प्रबंध किए है। यह दो दिवसीय स्नान 29 व 30 मई को है। मुख्य स्नान 30 मई का है। ज्येष्ठ माह में गंगा दशहरा उत्सव पर गंगा स्नान हेतु पांच लाख तीर्थ यात्रियों के पहुंचने की उम्मीद है। इन दो दिनों में करीब 50 हजार गाड़ियां बृजघाट पहुंच सकती है। गाड़ियों की भीड़ होने की सम्भावना से पार्किंग शुल्क वसूलने वाले ठेकेदार के कारिदों ने भी अपनी व्यवस्था को मजबूत किया है ताकि कोई वाहन बिना पार्किंग शुल्क दिए आगे न बढ़ सके।

एचपीडीए द्वारा बृजघाट पर 5 करोड़ रुपए की लागत से गाड़ियों के लिए पार्किंग बनाई गई थी। इस पार्किंग स्थल के अतिरिक्त वाहन बृजघाट में भी प्रवेश करते है, जहां पार्किंग शुल्क के नाम पर एंट्री टैक्स लिया जाता है। नगर पालिका परिषद गढ़मुक्तेश्वर ने बृजघाट पर निर्धारित स्थलों पर ही ठेकेदार को पार्किंग शुल्क निर्धारित दर पर वसूलने का ही ठेका दिया है, परंतु बृजघाट के सभी प्रवेश स्थलों पर एंट्री शुल्क निर्धारित दर से अधिक वसूला जाता है जिसका शिकार गढ़मुक्तेश्वर विधायक हरेंद्र तेवतिया भी हो चुके है। ठेकेदार के विरुद्ध दस माह पहले मुकद्दमा भी दर्ज हुआ था, परंतु ठोस कार्रवाई न होने से ठेकेदार के कारिंदों के हौसले बुलंद है।

ऐसे करते हैं अवैध वसूली- ठेकेदार के लठ्धारी कारिंदे पुलिस बैरिकेट लेकर बृजघाट क सभी प्रवेश मार्गों पर अवरोध खड़े कर देते है जिन पर एक-दो पुलिस कर्मी भी तैनात रहते है। इन पुलिस कर्मियों की मदद से ही ठेकेदार के कारिंदे यात्रियों से एंट्री शुल्क जबरन वसूलते है। जबकि वसूली पाइंट पर कोई पार्किंग स्थल नहीं है। वसूली का विरोध करने वाले यात्रियों के साथ अभद्रता की जाती है और उन्हें पुलिस का भय दिखाया जाता है।

श्रद्धालुओं की मांग- प्रत्येक रविवार, पूर्णिमा व अमावस्या पर गाड़ियों से बृजघाट पर गंगा स्नान हेतु पहुंचने वाले अनेक यात्रियों ने मांग की है कि बृजघाट पर अवैध वसूली को तुरंत रोका जाए और अवैध वसूली में सहायक बने पुलिस वालों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाए।

कम से कम ब्याज पर लोन लेने के लिए संपर्क करें: 9756129288