संचारी रोग नियंत्रण माह का शुभारंभ

0
59
Ad के लिए संपर्क करें: 9654657314

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com):संचारी रोग नियंत्रण माह/दस्तक अभियान का शुभारम्भ सोमवार को हापुड़ में जिलाधिकारी अनुज सिंह के द्वारा जिला महिला चिकित्सालय में फीता काट कर किया गया। विशेष संचारी अभियान रोग नियंत्रण अभियान 01 से 31 मार्च, 2021 तक तथा दस्तक अभियान 10 मार्च से 24 मार्च, 2021 तक आयोजित किया जायेगा। इस कार्यक्रम में जनपद की समस्त आशा कार्यकत्री 10 से 24 मार्च, 2021 तक घर-घर जाकर हर घर का भ्रमण कर लोगों को संचारी रोग से मुक्ति एवं बचाव हेतु तथा इसके लक्षणों एवं उपचार से सम्बन्धित सुविधाओं के प्रति जागरूकता करेंगी। 
     जिलाधिकारी अनुज सिंह ने हरी झंडी दिखाकर अभियान के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनपद में संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अन्तर्गत दिमागी बुखार और संचारी रोगों की रोकथाम की जायेगी। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही नगर विकास, पंचायतीराज/ग्राम  विकास विभाग, पशु पालन विभाग, महिला एवं  बाल विकास विभाग,  शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन साक्तीकरण/ समाजकल्याण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग, उद्यान विभाग, सूचना विभाग आदि कार्यक्रम जुड़े समस्त विभाग एक साथ मिलकर संचारी रोग से बचाव  हेतु कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि 31 मार्च तक चलने वाले अभियान में घर-घर जाकर आशा व आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा साफ-सफाई, कचरा निस्तारण, जलभराव रोकने, मच्छरों से बचाव आदि के प्रति लोगों को जागरूक  करेगी। इस अभियान से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारीगण अपने कर्तव्यों का पालन करें, ताकि यह अभियान जनपद में सफल हो। विशेष संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम की शुरूवात आज कर दी गई है, जिसे शासन की मंशा के अनुरूप कार्य किया जायेगा। जिलाधिकारी ने कार्यक्रम के समापन  के पश्चात जिला महिला चिकित्सालय का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश सम्बन्धित चिकित्सकों/स्टाफ को दिये। 
     सीएमओ डॉ रेखा शर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से चलाये जाने वाले इस अभियान के लिये शहरी और ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य केन्द्रों की ओर से माइक्रोप्लान भी तैयार कर लिया गया है, जिसके अनुसार विभाग द्वारा कार्य किया जायेगा। इस वर्ष के दस्तक में फ्रन्ट लाइन वर्कर्स (आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों) के द्वारा घर-घर जाकर किये जाने वाले संवेदीकरण तथा सर्वेक्षण में कुछ नये बिन्दु सम्मिलित किये गये हैं, जैसे- आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री प्रत्येक मकान पर क्षय रोग के संभावित रोगियों  के विषय में भी जानकारी प्राप्त करेंगी तथा जन्म-मृत्यु से छूटे शिशुओं/ व्यक्तियों के पंजीकरण को ब्योरा एकत्रित करेंगी तथा दिमागी बुखार के कारण विकलांग हुए व्यक्तियों की सूचना भी एकत्रित करेंगी। इसके साथ ही प्रतिदिन कार्य की समाप्ति पर अपनी रिपोर्ट  में बुखार के रोगियों की सूची, क्षयरोग के लक्षण युक्त व्यक्तियों की सूची, प्रत्येक कार्य दिवस में किये गये जन्म-मृत्यु पंजीकरण की सूची, दिमागी बुखार से विकलांग हुए व्यक्तियों की सूची की रिपोर्ट करेंगी।
     इस मौके पर  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 रेखा शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक, प्रभारी अधिकारी, बाल रोग विशेषज्ञ, मलेरिया एवं फाईलेरिया विभाग के तथा जिला एवं महिला चिकित्सालय के समस्त अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here