पीली सरसों पर मंडी शुल्क व जीएसटी की भारी चोरी

0
434
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314








पीली सरसों पर मंडी शुल्क व जीएसटी की भारी चोरी

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com): हापुड़ में पीली सरसों की मांग बढ़ने के साथ ही राजस्थान से पीली सरसों की आवकें बढ़ गई है औऱ करीब दस गाड़ियां रोजाना पीली सरसों की आ रही है जिनका मूल्य करीब एक करोड़ रुपए से ऊपर बताया जा रहा है। पीली सरसों के धंधे में लिप्त कारोबारी मंडी शुल्क व वाणिज्य कर शुल्क के रुप मे सरकार को करीब दस-बारह लाख रुपए रोजाना का चूना लगा रहे है।

पीली सरसों के कारोबार के ठिकानेः

हापुड़ के गढ़ रोड पर स्थित नवीन मंडी के अतिरिक्त स्थान पर गुड़, खाद्यान्न, तेल-तिलहन, चावल आदि का व्यापार करना पूरी तरह प्रतिबंधित है ताकि मंडी शुल्क की चोरी को रोका जा सके, परंतु मंडी समिति हापुड़ की मिली भगत से पीली सरसों का कारोबार पक्काबाग, नई मंडी पक्काबाग, किशन गंज, भगवती गंज तथा जरौठी रोड पर धड़ल्ले से किया जा रहा है और अवैध गोदामों में माल का उतरान व लदान हो रहा है।

पीली सरसों की आवकेः

हापुड़ में पीली सरसों की आवकें करीब 10-12 ट्रक रोजाना हो रही है। एक ट्रक करीब 15 टन सरसों लदी होती है। हापुड़ में पीली सरसों का भाव करीब आठ हजार रुपए प्रति क्विंटल बताया गया है। सरसों के ट्रक के साथ थोड़ी बहुत सरसों का ही बिल होता है और वह भी अंडर वैल्यू का। मौका लगता है तो पूरा ट्रक ही बिना बिल के होता है। सरसों पर मंडी शुल्क डेढञ प्रतिशत तथा जीएसटी 5 प्रतिशत है।

खपत के ठिकानेः

शुद्धता की दृष्टि से पीली सरसों के तेल को अधिक शुद्ध माना गया है। जनपद हापुड़ में तेल उत्पादन में लगी करीब 500 छोटी-बड़ी यूनिटें है। एक्सपेलर, किसान व उपभोक्ता पीली सरसों खरीद रहे है। सरसों में तेजी की रंगत से स्टाकिस्ट भी ले रहा है और ठिकानों पर बने गोदामों में स्टाक भी हो रहा है।

यदि सरकार के कारिंदों ने राजस्व चोरी पर लगाम नहीं लगाई तो सरकार का नजला गिरना दया है।

ये भी पढ़ेःमामा यादव होटल में कीड़े वाली सब्जी खिलाने का आरोप, विरोध करने पर मालिक ने ग्राहक को पीटा

मामा यादव होटल में कीड़े वाली सब्जी खिलाने का आरोप, विरोध करने पर मालिक ने ग्राहक को पीटा

JMS WORLD SCHOOL: ADMISSION OPEN FOR PLAY GROUP TO IX & XI: 7302252600