आटा यूनिट पर पहुंचे गेहूं पर मंडी शुल्क की भारी चोरी

0
670
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314








आटा यूनिट पर पहुंचे गेहूं पर मंडी शुल्क की भारी चोरी

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com): हापुड़ के बड़े आटा मिल मालिक सरकार की गेहूं खरीद योजना को पलीता लगाने में जुटे है, जिस कारण गेहूं का सरकारी खरीद लक्ष्य पूरा करने में कर्मचारियों को पापड़ बेलने पड़ रहे है।

हापुड़ की मेरठ रोड पर स्थित ओवर ब्रिज के नीचे एक आटा यूनिट है, जहां करीब 4-5 हजार बोरे प्रतिदिन अनलोड किया जा रहा है। आटा यूनिट को रोजाना करीब 4-5 हजार बोरे गेहूं की जरुरत होती है ताकि आपूर्ति, सप्लाई व स्टाक में संतुलन बना रहे है और पाइप लाइन खाली होने पर इधर-उधर न झांकना पड़ा। आटा यूनिट 24 सौ रुपए प्रति कुंतल तक गेहूं खरीद रही है।

हापुड़ में 4-5 बड़े बिचौलिए है, जो किसानों, गंगा पार, जनपद मेरठ व बुलंदशहर के गेहूं उत्पादकों से गेहूं खरीद कर ट्रैक्टर ट्रालियों, आयशर कैंटर, छोटा हाथी व टाटा-407 के माध्यम से उक्त आटा यूनिट को गेहूं भेज रहे है। यह पूरा कारोबार नकदी पर टिका है औऱ काली कमाई का निवेश गेहूं के स्टाक में किया जा रहा है।

मजे की बात तो यह है कि गेहूं पर मंडी शुल्क की भारी चोरी हो रही है और मंडी समिति के कर्मचारी प्रति बोरी की दर से रिश्वत वसूल रहे है। प्रदेश सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

30 हजार की डाउन पेमेंट और फ्री गिफ्ट के साथ ले जाएं ई-रिक्शा: 7906867483