हापुड़ में आलू की मिट्टी पलीत

0
932
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314


हापुड़ में आलू की मिट्टी पलीत

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com): जनपद हापुड़ में आलू भंडारण हेतु कोल्ड स्टोरों के बाहर लगी लाइनों तथा किसानों को आलू भंडारण में आ रही समस्याओं की गूंज लखनऊ तक जा पहुंची है और सरकार नें पल-पल की अपडेट मांगी है। हापुड़ में करीब 80 प्रतिशत आलू भंडारण हो चुकी है और शेष एक सप्ताह में पूरा हो जाने की उम्मीद है। अभी भी कोल्ड स्टोरों के बाहर आलू से लदी ट्रैक्टर ट्रालियों की लाइन लगी है।

हापुड़ में आलू की रिकार्ड पैदावार- वैसे तो आलू उत्पादक सभी मंडियों से रिकार्ड पैदावार होने की खबरें आ रही है। जनपद हापुड़ में भी आलू की रिकार्ड पैदावार हुई है। एक अनुमान के मुताबिक जनपद हापुड़ में 1.90 लाख मीट्रिक टन आलू की पैदावार हुई है जबकि जनपद के 15 कोल्ड स्टोरों की आलू भंडारण क्षमता 1.80 लाख मीट्रिक टन है और अब तक करीब 1.50 लाख मीट्रिक आलू का भंडारण हो चुका है और उम्मीद है कि कोल्ड स्टोरों पर एक सप्ताह में फुल होने के बोर्ड लग जाएंगे।

शासन ले रहा है अपडेट- उत्तर प्रदेश शासन अन्य मंडियों के साथ-साथ जनपद हापुड़ में आलू के भाव व स्टोरेज स्थिति पर निगाह बनाए है। मंडी सचिव नीलिमा सिंह का कहना है कि इस सम्बंध में शासन को अपडेट कराया जा रहा है और रिपोर्ट भेजी जा रही है। जिला उधान अधिकारी हरित कुमार ने कहा है किसानों को भंडारण कोई समस्या नहीं आने दी जाएगी।

आलू में मंदी से किसान टूटा– आलू के भावों में निरंतर मंदी से किसान टूट सा गया है और किसान को लागत का मूल्य भी नहीं मिल रहा है। अभी भी खेतों में 10-15 प्रतिशत आलू शेष है। उम्मीद है कि अगले 4-5 दिन में आलू के खेत खाली हो जाएंगे. आलू व्यापार संघ के अध्यक्ष अनिल गुप्ता आलू वालों ने बताया कि भंडारण हेतु स्टोर क्वालिटी का भाव चिपसोना 525 रुपए प्रति कट्टा 52 किलो, आलू हाईब्रिड 300 रुपए प्रति कट्टा 52 किलो तथा आलू-3797 किस्म 400 रुपए प्रति कट्टा 52 किलो बिका। हापुड़ मंडी में बिक्री हेतु पहुंचने वाले आलू की तो मिट्टी पलीत हो रही है और खरीददादर कम से कम दाम लगा रहा है।

दिल्ली की डॉ शूची तनेजा दुआ अब हापुड़ शहर में : 7017732103