सार्वजनिक भूमि पर पट्टा धारक काबिज

0
2597
विज्ञापन के लिए संपर्क करें: 9654657314



सार्वजनिक भूमि पर पट्टा धारक काबिज

हापुड़, सीमन (ehapurnews.com): नगर पालिका परिषद हापुड़ ने गत पांच वर्ष में पट्टा धारकों से करोड़ों रुपए मूल्य की भूमि वापिस लेने का एक भी प्रयास नहीं किया। जिस कारण पट्टा धारकों के आश्रितों की मौज आ गई है।

बात कई दशक पुरानी है जब परिषद की सैकड़ों वर्ग गज भूमि मामूली किराए पर पट्टे पर एक व्यक्ति को आवंटित कर दी गई जिसका नवीनीकरण हर दस साल में हुआ। इस पट्टे की अवधि 1970 में समाप्त हो चुकी है।

अनुबंध में स्पष्ट उल्लेख है कि पट्टा दाता पट्टेदार को नोटिस देकर 6 माह में अपनी भूमि को वापिस ले सकता है, परंतु नगर पालिका ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया है। इसके अलावा नगर पालिका की भूमि पर कई रसूकदार लोगों ने कब्जा कर रखा है। नगर पालिका की कई दुकानें भी पट्टा धारकों के पास है।

खास बात तो यह है कि पट्टा धारक तो ब्रह्मलीन हो चुके है, अब कब्जा उनके आश्रितों का है। एक ट्रस्ट की भूमि को तो पट्टा धारक बेच चुके है। नगर उपभोक्ता संघ ने प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर नगर पालिका की भूमि  का लैंड आडिट कराए जाने की मांग की है।

एक ही दुकान से प्लास्टिक का सारा सामान होलसेल दाम पर खरीदें: 9359986878